चेक बाउंस हो जाना किसे कहते हैं? यदि चेक बाउंस हो जाए तो क्या करें?

चेक बाउंस हो जाना किसे कहते हैं?
चेक बाउंस हो जाना किसे कहते हैं?

चेक बाउंस हो जाना किसे कहते हैं? यदि चेक बाउंस हो जाए तो क्या करें? – दोस्तों कैसे हैं आप सभी? आशा करता हूं आप सभी स्वस्थ होंगे। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको एक बहुत इंपॉर्टेंट तथा यूज़फुल टॉपिक पर जानकारी देने जा रहे हैं। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको चेक बाउंस के बारे में बताएंगे। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताएंगे चेक बाउंस हो जाना किसे कहते हैं? यदि चेक बाउंस हो जाए उस परिस्थिति में हमें क्या करना चाहिए? तो दोस्तों अगर आप भी चेक बाउंस के बारे में जानना चाहते हैं और चेक बाउंस की समस्या से निपटना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को आखरी तक पूरा पढ़िए। इस आर्टिकल में आपको से जुड़ी हुई संपूर्ण जानकारी विस्तार से बताई गई है।

यदि आप एक व्यापारी हैं या फिर आप अक्सर बैंक चेक के माध्यम से वित्तीय लेनदेन करते हैं तो आपको पता होगा चेक बाउंस होना किसे कहते हैं। हो सकता है कई बार आपकी चेक बाउंस हो गई हो। असल में कई बार ऐसा होता है जब हम किसी व्यक्ति से अपनी पेमेंट लेते हैं तो वह हमें पेमेंट हाथ में ना देकर चेक के माध्यम से देता है। जब हम इस चेक को बैंक में जमा करते हैं तो कुछ दिनों बाद हमारे पास चेक बाउंस होने का मैसेज आ जाता है। कई बार तो चेक बाउंस होने के कारण लोगों को जेल तक जाना पड़ा है। एक तरह से देखा जाए तो चेक बाउंस को वित्तीय धोखाधड़ी में शामिल किया जाता है।

हालांकि कभी-कभी हमारी लापरवाही से या फिर कभी-कभी बैंक की लापरवाही से भी चेक बाउंस हो जाती है। यदि आपकी कोई चेक बाउंस हो गई है और आपको पता है कि चेक बाउंस होने के बाद इस परिस्थिति से कैसे निपटना है तो आपके लिए ज्यादा समस्या नहीं होगी। लेकिन यदि आपके साथ चेक बाउंस होने की घटना पहली बार हुई है तो निश्चित रूप से आप घबरा जाएंगे और परेशान हो जाएंगे।

Read More – जीवन बीमा क्यों आवश्यक है ? इंपॉर्टेंस ऑफ लाइफ इंश्योरेंस

जब भी हमारी चेक बाउंस होती है हम बहुत ज्यादा परेशान हो जाते हैं कई लोगों से मदद मांगते हैं इंटरनेट में सर्च करते हैं बैंक एम्पलाई के पास जाते हैं लेकिन हमें संतोषजनक परिणाम नहीं मिलता। आपके साथ भविष्य में यह सभी समस्याएं ना हो इसीलिए आपको पता होना चाहिए चेक बाउंस होना किसे कहते हैं? यदि आपको नहीं पता तो भी आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि इस आर्टिकल में आपको चेक बाउंस होने से संबंधित संपूर्ण जानकारी विस्तार से दी गई है।

चेक बाउंस होना किसे कहते हैं?

इससे पहले कि मैं आपको चेक बाउंस से जुड़ी अन्य जानकारियां दूं आपको पता होना चाहिए चेक बाउंस होना किसे कहते हैं?आपकी जानकारी के लिए बता दूं जब आप बैंक में कोई चेक लगाते हैं और वह चेक बैंक वेरीफिकेशन में फेल हो जाती है तो उसे चेक बाउंस होना कहते हैं। साधारण भाषा में हम बैंक के द्वारा चेक को स्वीकार न किए जाने को चेक बाउंस होना कह सकते हैं। चेक बाउंस होने के कई कारण हो सकते हैं।

चेक बाउंस होने के कारण

जैसा कि हमने पहले ही आपको बताया था चेक बाउंस होने के ढेर सारे कारण होते हैं। चेक बाउंस होने के कुछ मुख्य कारणों के बारे में नीचे बताया गया है।

  • आपने चेक में जितने पैसे लिखे हैं यदि उतने पैसे आपके बैंक अकाउंट में नहीं है तो निश्चित रूप से आपका चेक बाउंस हो जाएगा।
  • यदि आपने चेक में अकाउंट नंबर या अपना नाम गलत लिख दिया है और वह आपके ओरिजिनल अकाउंट से मैच नहीं खा रहा है तो आपका चेक बाउंस हो जाएगा।
  • आपने अपनी चेक में जो सिग्नेचर की है वह सिग्नेचर यदि आपके ओरिजिनल बैंक अकाउंट से मैच नहीं करेंगे तो आपका चेक बाउंस हो जाएगा।

चेक बाउंस होने पर क्या करें?

दोस्तों आशा करता हूं अब आपको पता चल गया होगा चेक बाउंस होना किसे कहते हैं? यदि किसी कारणवस आपके चेक बाउंस हो गई है तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। सबसे पहले आपको अपने बैंक में जाना है और वहां पर चेक बाउंस होने का कारण पता करना है। इसके बाद आपको किसी अच्छे एडवोकेट के पास जाना है और उसे पूरी बात समझाना है।

एडवोकेट आपकी मदद करने के लिए एक लीगल नोटिस तैयार करेगा जिसमें चेक बाउंस के बारे में बताया जाएगा। इसी के साथ-साथ आप एक महत्वपूर्ण काम यह करें कि जिस व्यक्ति को आप पेमेंट करने जा रहे हैं 20 दिनों के अंदर उसकी पूरी पेमेंट कंप्लीट कर दें। अन्यथा वह व्यक्ति आपके खिलाफ कोर्ट में केस कर देगा और आप चेक बाउंस के फर्जीवाड़े में गिरफ्तार हो जाएंगे।

निष्कर्ष

तो दोस्तों यह आज आपके लिए एक छोटी सी जानकारी थी। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको बताया चेक बाउंस होना किसे कहते हैं? चेक बाउंस होने पर क्या करें? आशा करता हूं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है इसे अपने दोस्तों के पास शेयर करें। आर्टिकल को आखरी तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*