D-Mart बिजनेस क्या है ? D-Mart बिजनेस के सफल होने के पीछे का कारण

D-Mart बिजनेस क्या है

D-Mart बिजनेस क्या है ? D-Mart बिजनेस के सफल होने के पीछे का कारण – आज इस आर्टिकल में हम आपको एक बहुत इंपॉर्टेंट टॉपिक पर जानकारी देने जा रहे हैं। आज इस आर्टिकल में हम आपको d-mart बिजनेस के बारे में बताएंगे। अगर आप जानना चाहते हैं d-mart बिजनेस क्या है? D-mart बिजनेस सफल होने के पीछे का क्या कारण है? तो आर्टिकल को आखरी तक पूरा पढ़िए।  इस आर्टिकल में आपको d-mart से जुड़ी संपूर्ण जानकारी विस्तार से दी गई है।

आज आपको शहर में बड़ी-बड़ी सुपरमार्केट देखने को मिल जाएंगे। अगर आप किसी हाइटेक सिटी में रहते हैं या फिर भीड़भाड़ वाले इलाके के नजदीक रहते हैं तो संभव है आपके घर के कुछ दूर पर आपको एक सुपरमार्केट मिल जाएगी। जब भी हमें किसी वस्तु को खरीदने की आवश्यकता पड़ती है हम तुरंत सुपरमार्केट जाते हैं और वहां पर अपनी मनपसंद वस्तु खरीद लेते हैं। सुपर मार्केट एक मार्केट होता है जहां पर आपको हर एक कैटेगरी का सामान एक ही छत के नीचे मिल जाता है।

कम पैसे में Digital Marketing कैसे करें ?

अलग-अलग सामान खरीदने के लिए आपको अलग-अलग जगह पर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।  सुपर मार्केट के अंदर हर प्रोडक्ट की अलग-अलग दुकानें होती है जहां जाकर आप अपना प्रोडक्ट खरीद सकते हैं।

आज से कुछ वर्षों पहले सुपरमार्केट बहुत ज्यादा पॉपुलर थे और इन पर प्रॉफिट भी ढेर सारा था। पिछले कुछ वर्षों में सुपर मार्केट बिजनेस घाटे में चला गया है। सुपर मार्केट के घाटे में जाने का सबसे बड़ा कारण d-mart है। जब से d-mart मार्केट में आया तब से सुपर मार्केट का बिजनेस मॉडल पूरी तरह से तबाह हो गया। पिछले कुछ वर्षों में d-mart बिजनेस में मार्केट में अपनी एक इतनी अच्छी जगह बना ली है कि हर कोई यह जानना चाहता है d-mart की सफलता के पीछे रहस्य क्या है?

D Mart  क्या है ? | D-Mart बिजनेस क्या है

इससे पहले कि हम आपको d-mart के सफल होने के पीछे का रहस्य बताएं? आपको पता होना चाहिए डी मार्ट क्या है? अगर आप d-mart के बारे में नहीं जानते तो आपकी जानकारी के लिए बता दूं। यह बात सच है कि d-mart एक प्रकार का सुपरमार्केट है, लेकिन फिर भी d-mart के बिजनेस करने का तरीका अन्य सुपरमार्केट की अपेक्षा बिल्कुल अलग है जिस कारण d-mart सफल हो गया।

D-mart एक प्रकार का सुपरमार्केट ग्रुप है। आज देश के लगभग हर शहर में आपको एक डी मार्ट सुपरमार्केट देखने को मिल जाएगा। लखनऊ कानपुर नोएडा गुड़गांव हरियाणा पंजाब लगभग हर शहर में d-mart का एक सुपरमार्केट बना है। अगर आप नॉर्मल दुकान से कोई वस्तु खरीदते हैं तो वह आपको महंगी मिलती है। लेकिन अगर वही वस्तु आप डी मार्ट के अंदर से खरीदते हैं तो वह आपको बहुत कम कीमत पर मिल जाती है।

D-mart की लोकप्रियता तेजी से बढ़ती चली जा रही है। जिन क्षेत्रों में d-mart नहीं है उन क्षेत्रों में भी जल्द ही d-mart तैयार किए जाने का प्रोजेक्ट पास हुआ है। D-mart के अंदर लगभग आपको हर तरह के प्रोडक्ट देखने को मिल जाते हैं। यह प्रोडक्ट आपको अन्य सुपरमार्केट की अपेक्षा सस्ते मिलते हैं।

D-mart के संस्थापक कौन है ?

कुछ लोगों के मन में यह प्रश्न आ रहा होगा कि आखिर इतने पापुलर डी मार्ट को खड़ा करने का प्लान किसका होगा। आपकी जानकारी के लिए बता दूं डी मार्ट के संस्थापक फाउंडर राधा कृष्ण दामिनी जी है। राधा कृष्ण दामिनी दुनिया के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में गिने जाते हैं। राधा कृष्णा दामिनी के पास है 11.4 बिलियन डॉलर के संपत्ति है।

राधा कृष्णा दामिनी d Mart के संस्थापक होने के साथ-साथ बहुत बड़े इन्वेस्टर भी हैं।

D’Mart  मार्ट सफलता के पीछे का रहस्य

जैसा कि पहले हमने आपको बताया था d-mart आज का सबसे पॉपुलर तथा सबसे ज्यादा इनकम वाला सुपर मार्केट बन चुका है। डी मार्ट की सफलता के पीछे का सबसे बड़ा रहस्य है d-mart का बिजनेस मॉडल। डी मार्ट ने एक ऐसे बिजनेस मॉडल को फॉलो किया जिसने d-mart को रातों-रात सफल बना दिया।

नीचे हम आपको d-mart की सफलता के कुछ मुख्य कारणों के बारे में बता रहे हैं।

दिखावा ना करना

D Mart सफल होने का सबसे बड़ा कारण है d-mart ने कभी भी कोई दिखावा नहीं किया । अगर आप किसी भी सुपर मार्केट के अंदर जाएंगे या शॉपिंग मॉल के अंदर जाएंगे तो वहां पर आप देखेंगे ढेर सारी सजावट रहती है, एसी कूलर बेवजह चलते रहते हैं। जगह-जगह पर आपको सिक्योरिटी गार्ड या अन्य सर्वेंट देखने को मिलते हैं। अन्य जितने भी सुपरमार्केट है वह अपनी सजावट में प्रतिवर्ष करोड़ों रुपए खर्च करते हैं। लेकिन यदि हम डी मार्ट के अंदर देखें तो वहां पर हमें कोई भी सजावट या फालतू का खर्चा नहीं दिखाई देगा।

d-mart जितने भी है वह बहुत सिंपल बने होते हैं। डी मार्ट के अंदर सिर्फ उन्हीं कर्मचारियों को नौकरी दी जाती है जिनको वास्तव में आवश्यकता होती है। डी मार्ट में बाहरी दिखावे को कम किया गया है। इसी कारण डी मार्ट कंपनी प्रतिवर्ष अपना ढेर सारा पैसा बचाती है। यह पैसा डी मार्ट कंपनी अपने प्रोडक्ट को सस्ती कीमत में बेचने के लिए इस्तेमाल करती है।

रेंटल सर्विस से छुटकारा

आज इतना भी सुपर मार्केट में यदि आप वहां जाकर देखेंगे तो उनके पास खुद की जमीन नहीं होती है। जब भी कोई सुपरमार्केट कंपनी किसी शहर में अपना सुपरमार्केट शुरू करती है तो वह कंपनी जमीन किराए पर लेती है। करोड़ों रुपए प्रति वर्ष सुपरमार्केट कंपनियों को किराया देना पड़ता है। कंपनियों को जितनी बचत होती है वह किराया देने में चली जाती है।

लेकिन d-mart ने ऐसा बिल्कुल भी नहीं किया है। D-mart ने एक भी सुपरमार्केट किसी दूसरे की जमीन पर नहीं बनाया। डी मार्ट ने सबसे पहले जमीन खरीदी और उसके बाद ही उसमें सुपरमार्केट का निर्माण किया। सुपरमार्केट के लिए डी मार्ट के पास कितनी जमीन है उनकी पर्सनल है। D’mart को हर महीने करोड़ों रुपए जमीन का किराया नहीं देना पड़ता।

कंपनी एंट्री फीस

d-mart ग्रुप के सफल होने का एक और सबसे बड़ा कारण यह है कि डी मार्ट कंपनी ने एक एंट्री फीस निर्धारित की गई है। जब भी कोई दुकानदार डी मार्ट सुपर मार्केट के अंदर अपनी दुकान के लिए परमिशन मांगता है तो डी मार्ट कंपनी उससे एक एंट्री फीस लेती है। d-mart के अंदर जितने भी दुकानें हैं उन सभी दुकानों पर डी मार्ट की तरफ से एक चार्ज फिक्स किया गया है। अब हर महीने या हर साल दुकानदारों को यह चार्ज देना पड़ता है।

निष्कर्ष

यह कुछ प्रमुख कारण थे जिन कारणों की वजह से d-mart आजा दुनिया के टॉप बिजनेस मॉडल में गिना जाता है। आज इस आर्टिकल में हमने आपको बताया d-mart बिजनेस मॉडल क्या है? D-mart बिजनेस सफल होने के पीछे क्या कारण है? आशा करता हूं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। आर्टिकल को आखिरी तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*