गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है ?

गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है

गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है ? आप सभी ने अपने घर की रसोई में गैस सिलेंडर देखा होगा। गैस सिलेंडर का इस्तेमाल आज हर घर में किया जा रहा है। पहले के समय में लोग खाना बनाने के लिए लकड़ियों एवं गोबर के उपलों का इस्तेमाल करते थे। इस प्रकार खाना बनाना बहुत ही मुश्किल था। इससे लोगों की आंखों पर बुरा प्रभाव पड़ता था साथ ही साथ समय तथा धन दोनों बर्बाद होता था। धीरे-धीरे करके गैस सिलेंडर की खोज की गई। आज हर कोई गैस सिलेंडर का इस्तेमाल करके भोजन पकाता है। सरकार भी लोगों को गैस सिलेंडर का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित कर रही है।

गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता हैआज मार्केट में विभिन्न कंपनिया गैस सिलेंडर उपलब्ध कराती हैं। दोस्तो, जब भी आप अपने घर में रसोई में गैस सिलेंडर देखते होंगे तो आपके मन में यह प्रश्न जरूर आता होगा गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है? बिल्कुल सही सवाल है आखिर गैस सिलेंडर का रंग काला या नीला भी तो हो सकता है। लेकिन इस दुनिया में जितने भी गैस सिलेंडर है उनका रंग लाल ही होता है। आज आपकी टेंशन को दूर करने के लिए इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है?

गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है ?

यदि आप भी कंफ्यूज है और आपको समझ नहीं आ रहा है कि गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है?  आज आपके कन्फ्यूजन यहीं पर समाप्त होगी। आपकी जानकारी के लिए बता दे गैस सिलेंडर लाल रंग का होने के पीछे दो कारण है। इन दोनों कारणों के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है।

पहला कारण

गैस सिलेंडर लाल रंग का होने का पहला कारण है कि लाल रंग खतरे का संकेत होता है। आपने किताबो में पढ़ा होगा लाल रंग हमेशा खतरा प्रदर्शित करता है। रेलवे क्रॉसिंग में भी आपको लाल सिग्नल दिखाई देता होगा यह सभी खतरे की निशानी है। रसोई गैस सिलेंडर के अंदर एलपीजी गैस भरी होती है। एलपीजी गैस बहुत ही ज्वलनशील गैस होती है।

यदि गलती से भी एलपीजी गैस में आग की चिंगारी लग जाए तो यह कुछ ही सेकंड में पूरा सिलेंडर फट सकता है । कई बार सिलेंडर ब्लास्ट भी हो जाते हैं। सिलेंडर ब्लास्ट होने से जानमाल के बहुत अधिक हानि होती है। इसीलिए लोगों को सूचना देने के लिए कि इस सिलेंडर के अंदर एलपीजी गैस है, सिलेंडर को को लाल रंग से रंगा जाता है।

दूसरा कारण

रसोई गैस सिलेंडर के लाल रंग होने के पीछे दूसरा मुख्य कारण कलर कोड है। दोस्तों, आपकी जानकारी के लिए बता दें हमारे वातावरण में अलग अलग प्रकार की गैस पाई जाती हैं। इन गैस को संग्रहित करने के लिए अलग-अलग बर्तनों का इस्तेमाल किया जाता है। हर एक गैस के लिए एक अलग कलर कोड निर्धारित किया गया है।

कार्बन डाइऑक्साइड गैस को हमेशा ग्रे कलर के सिलेंडर के अंदर स्टोर करते हैं, ऑक्सीजन गैस को हमेशा सफेद कलर के सिलेंडर के अंदर स्टोर करते हैं, हिलियम गैस को हमेशा भूरे रंग के सिलेंडर के अंदर स्टोर करते हैं, नाइट्रस ऑक्साइड को हमेशा नीले रंग के सिलेंडर के अंदर स्टोर करके रखते हैं, नाइट्रोजन गैस को हमेशा काले रंग की सिलेंडर में स्टोर करके रखा जाता है। ठीक इसी प्रकार एलपीजी यानी कि लिक्विड पेट्रोलियम गैस को हमेशा लाल रंग के सिलेंडर में रखा जाता है।

इसके पीछे सबसे बड़ा कारण है कि कोई दूर से ही देख कर पता कर सकता है कि इस सिलेंडर के अंदर एलपीजी गैस भरी है। इसीलिए रसोई गैस के सिलेंडर को हमेशा लाल रंग से रंगा जाता है

निष्कर्ष

आज इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको बताया कि रसोई गैस के सिलेंडर को लाल रंग से क्यों रंगा जाता है या फिर रसोई गैस का सिलेंडर लाल रंग का क्यों होता है हमने आपको दो कारण भी बताएं  दोस्तों हमें उम्मीद है आज आपकी कंफ्यूजन दूर हो गई होगी। यदि यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हुई है तो आप हमें कमेंट करके बताएं। इस जानकारी को सोशल मीडिया के माध्यम से अपने अन्य दोस्तों तक भी पहुंचाए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*